Day: September 16, 2018

नाउम्मीद इश्क़ | Unrequited LOVE

सोचा था कि तेरा बादलों के पार तक पीछा करूँ, तेरा कई जन्मों तक इंतज़ार करूँ, चाँद की परछाई में तेरा दीदार करूँ, तुझे कुछ भी कहने से डरूं, तुझे छूने की तड़प में मरूं, तेरी यादों को अपनी बाहों में भरूँ,नाउम्मीद इश्क़ से इश्क़ की उम्मीद करूँ, मगर मुझे लौटना था, इन बेबुनियादी बातों […]

Read more