Day: November 17, 2018

तलब | हिंदी शायरी

तुझसे इश्क की तलब कभी गयी ही नहीं, सब कुछ छोड़ दिया, मगर तेरी यादें मुझसे अलग हुयी ही नहीं ♥♥

Read more