.

Saturday, July 20, 2019

एतिबार | Ektarfa Pyaar


उनकी ख़ामोशी पे इतना एतिबार किया,
उनकी ना का भी उम्र भर इंतिज़ार किया ।


Monday, July 8, 2019

ज़ुल्फ़ | Romantic Shayari


हवा भी बचकर निकलती है,
उनके आरिज़ पे जब ज़ुल्फ़ गिरती है ।


तदबीर | Urdu Couplet


मिरे हर ख़्याल की तस्वीर तू है,
दिल के ज़ख्मों की तदबीर तू है,

लाख दिल को समझाया मगर,
मिरे टूटे ख़्वाबों की तकदीर तू है ।


इंतिज़ार | Hindi Poetry


उनके घर से निकलने के इंतिज़ार में है,
मैं नहीं मेरा इंतिज़ार तेरे प्यार में है ।


आरिज़ | Urdu Shayari


अब बात आगे भी तो कैसे बढ़ाएं,
वो पहले अपने आरिज़ से गेसू तो हटाएं ।


Wednesday, June 26, 2019

वो कौन था | Pyar Shayari


उम्र भर साथ रहा मगर कभी छुआ नहीं,
वो कौन था जो मेरा होकर भी मेरा हुआ नहीं ।


तसल्ली | Urdu Sher


मिरी मुस्कुराहट देखकर उन्होंने तसल्ली कर ली,
हमेशा ख़ुश रहना मुहब्बत का सलीका नहीं दोस्त ।


बर्क़-ए-जमाल-ए-यार | Urdu Shayari


बर्क़-ए-जमाल-ए-यार हमसे सहा ना गया,
अँधे हो गए मगर देखें बिना रहा ना गया ।


मुस्कुराए | Hindi Poetry


कोई भला अब मुस्कुराए भी तो कैसे,
जो नहीं है वो नज़र आए भी तो कैसे,

जिन्हें याद कर हम हर पल जीये,
उन्हें अब भूलकर मर जाए भी तो कैसे ।


तेरी सादगी | Hindi Shayari


वो ठंडा पानी और तेरी सादगी गिरती बर्क़ है,
शराब और तेरी आँखों में इतना ही फर्क़ है ।


Sunday, June 23, 2019

भुलाया नहीं | Sad Shayari


शायद भूल थी मेरी,
जो तुम्हें भुलाया नहीं,
.
जो इक उम्र दिल में रहा,
वो कभी नज़र आया नहीं ।


उलझाना | Hindi Shayari


उन्हें सिर्फ़ बातें बनाना आता है,
सिर्फ़ जुल्फ़ों को उलझाना आता है,

जिनके दिल में हम सुकूँ तलाशते रहे,
उन्हें बस इश्क़ में तड़पाना आता है ।


तन्हाई | Sad Poetry


हमनें रास्ते को उलझाए रखा,
मंजिल से फासला बनाए रखा,

कभी यूँ भी ना चले तिरी ज़ानिब,
हमनें तन्हाई से दिल लगाए रखा ।


मौसम | बारिश शायरी


कभी तेज हो जाती है तो कभी ठहर जाती है,
बारिश और तेरी याद का मौसम एक जैसा है ।



मुहब्बत बूढ़ी | Urdu Poetry


चार कदम चली और थक कर सो गई,
कच्ची उम्र में मुहब्बत बूढ़ी हो गई ।


Wednesday, April 10, 2019

Monday, April 8, 2019

फ़िज़ूल | Sad Shayari


ख़ुदा के हर दर पे मिरे सज्दे सारे फ़िज़ूल गए,
तुझे तो माँग लिया हम नसीब माँगना भूल गए ।


मैखानों | Adhoora iSHQ


थोड़ी तिरी आँखों में थोड़ी मैखानों में गुज़रेगी,
मुहब्बत अभी तो सर चढ़ी है धीरे-धीरे उतरेगी ।


तक़रीरें | LOVE Shayari


मुस्तक़िल उनसे मेरी तक़रीरें होती रही,
ख़ामोशियाँ चीखती रही और आवाज़ें सोती रही ।


Sunday, April 7, 2019

बेपरवाही | रोमांटिक शेर


इश्क़ में उनकी बेपरवाही इतनी सहनी पड़ी
जो बातें महसूस करनी थी वो सारी कहनी पड़ी ।


दीवाना | रोमांटिक शायरी


बार-बार छेड़ने का बहाना चाहिए,
ज़ुल्फ़ को हवा सा दीवाना चाहिए ।


तजुर्बा | Hindi Poetry


तजुर्बा मुहब्बत का मिरे काम नहीं आया,
उनकी कहानी में मेरा नाम नहीं आया ।


Friday, March 22, 2019

गाल | रोमांटिक हिंदी शायरी


पक्का रंग नहीं था उसके पास,
तू उसने अपना गाल रगड़ दिया ।


रंग | Holi


मुझमें कितने रंग हैं तेरे,
मुझमेंमैंधुंधला सा हूँ ।


Monday, March 4, 2019

तुम्हारा नाम | Hindi Love Shayari


तुम्हारा यूँ मुस्कुराहना मिरे बुरे वक़्त में काम आएगा,
जब भी चाँद का ज़िक्र होगा तुम्हारा नाम आएगा ।


मिरे कमरे | ROMANTIC Shayari


तुम अपनी ख़ुशबू यही छोड़ दो,
मिरे कमरे में हवा के सिवा कुछ भी नहीं ।


उदासी | LOVE Shayari


मैंने उसकी उदासी माँगी थी,
वो मेरी मुस्कुराहट ले गयी ।


Sunday, February 24, 2019

तेरी ख़ुश्बू | Romantic Poetry


शहर भी बदला मगर हवा नही बदली,
तेरी ख़ुश्बू ने साँसों का हर जगह पीछा किया ।


अजनबी | पहला प्यार


क़रीब आकर भी वो मुझसे दूर हो रहा है,
इक अजनबी के लिए ना जाने क्यों दिल रो रहा है


बेहतरीन | LOVE Shayari


जिसे मुहब्बत नहीं मिली,
उसने फिर मुहब्बत बेहतरीन की ।


Saturday, February 23, 2019

ज़िंदा | Hindi Poetry


यूँ तो जी रहा हूँ मगर,
गले में यादों का फंदा है,

मैं जिस पे मर गया,
वो मिरे बग़ैर ज़िंदा है ।


आसाँ मौत | अधूरा प्यार


जो माँगते थे दुआ आसाँ मौत की,
उन्होंने उसे मुस्कुराहतें हुए देख लिया ।


Thursday, February 21, 2019

वस्ल | Sad Love Poems


तिरे हिज़्र में मर मर के जीये,
वस्ल की रात में घुट इंतिज़ार के पीये ।


कर्जा | Hindi Love Shayari


ख़्वाबों का कर्जा है मुझ पर,
रोज़ नींद को आने नहीं देते ।


खनक | ISHQ Shayari


इक चेहरा ख़्याल से गुजरा
और आँखों को भनक ना हुई,

उसने ख़्वाबों में दस्तक दी
और पायल की खनक ना हुई ।


Wednesday, February 20, 2019

मैखानों | Sad Shayari


गुलाब चुभने लगे हैं,
अब काँटों से मुहब्बत की जाय,

वस्ल होता तो आँखों से पीते,
तिरे हिज़्र में मैखानों में पी जाय ।


वादा | Infinite LOVE


कोई कैसे माँगे कोई वादा या सुकून तुझसे,
तुझे देखकर दिल मुस्कुराहता है क्या काफ़ी नहीं ।


पलकों | Hindi Shayari


मैं तुझे अपनी पलकों पे बैठा तो लूँ,
तू मुझे कभी अपनी नज़रो से गिरा मत देना ।


Tuesday, February 19, 2019

बदन | LOVE


उसकी मुस्कुराहट ने कितनो के दर्द बाँटे हैं,
उसकी ख़ुशबू से फूल के बदन में साँसे हैं ।


मालूम | Romantic Shayari


तुम्हें क्या मालूम मोहब्बत क्या है,
तुमने कभी उसे मुस्कुराते नहीं देखा ।


Monday, February 18, 2019

तेरे नाम | रोमांटिक शायरी


तुझे मेरी कहानी में मुहब्बत लिख दूँ क्या,
तेरे नाम के साथ मेरा नाम रख दूँ क्या ।


मुश्किलें | Hindi Best Shayari


मुश्किलें मेरी वो बढ़ा देती है,
वो हर बात पे थोड़ा मुस्कुरा देती है ।


मेहमाँ | Urdu Poetry


शहर का शहर परेशान रहा,
कोई अपना मेहमाँ बनकर आया है ।


Sunday, February 17, 2019

लहजा | LOVE Shayari


फ़क़त पँख नहीं है उसके,
मगर लहजा परियों सा है ।


ज़माने | Hindi Poetry


वो लोग मुझे चिढ़ाने लगे है,
मिरे दिल को तेरा घर बताने लगे है,

उन को समझाएं कोई आसां नहीं मुहब्बत,
दिल को दिल बनाने में ज़माने लगे है ।


Saturday, February 16, 2019

अदब | Romantic Shayari


बड़े ही अदब से देखता हूँ मैं उसे,
उसकी मुस्कुराहट में ख़ुदा मालूम होता है ।


शहर | Pehla Pyaar


वो जो नज़रे झुका के चलती है,
सारा शहर उसकी नज़रों में उठना चाहता है ।


आसां | Romantic Shayari


इतना आसां कहा है उसे मुस्कुराते देखना,
आईने ने भी अपना दिल बचा के रखा ।


Friday, February 15, 2019

दुआ | INFINITE LOVE


ख़ुद ख़ुदा भी सजदे में है तिरे लिए,
मैं तिरे लिए कोई और दुआ क्या माँगूं ।


आखिर | Hindi Shayari


उसे अब बताना भी तो जरूरी नहीं,
मुहब्बत आखिर पूछ के तो नहीं कि जाती ।