.

Sunday, April 7, 2019

दीवाना | रोमांटिक शायरी


बार-बार छेड़ने का बहाना चाहिए,
ज़ुल्फ़ को हवा सा दीवाना चाहिए ।


No comments:

Post a Comment