Month: June 2019

वो कौन था | Pyar Shayari

उम्र भर साथ रहा मगर कभी छुआ नहीं, वो कौन था जो मेरा होकर भी मेरा हुआ नहीं ।

Read more

तसल्ली | Urdu Sher

मिरी मुस्कुराहट देखकर उन्होंने तसल्ली कर ली, हमेशा ख़ुश रहना मुहब्बत का सलीका नहीं दोस्त ।

Read more

बर्क़-ए-जमाल-ए-यार | Urdu Shayari

बर्क़-ए-जमाल-ए-यार हमसे सहा ना गया, अँधे हो गए मगर देखें बिना रहा ना गया ।

Read more

मुस्कुराए | Hindi Poetry

कोई भला अब मुस्कुराए भी तो कैसे, जो नहीं है वो नज़र आए भी तो कैसे, जिन्हें याद कर हम हर पल जीये, उन्हें अब भूलकर मर जाए भी तो कैसे ।

Read more

तेरी सादगी | Hindi Shayari

वो ठंडा पानी और तेरी सादगी गिरती बर्क़ है, शराब और तेरी आँखों में इतना ही फर्क़ है ।

Read more

भुलाया नहीं | Sad Shayari

शायद भूल थी मेरी, जो तुम्हें भुलाया नहीं, . जो इक उम्र दिल में रहा, वो कभी नज़र आया नहीं ।

Read more

उलझाना | Hindi Shayari

उन्हें सिर्फ़ बातें बनाना आता है, सिर्फ़ जुल्फ़ों को उलझाना आता है, जिनके दिल में हम सुकूँ तलाशते रहे, उन्हें बस इश्क़ में तड़पाना आता है ।

Read more

तन्हाई | Sad Poetry

हमनें रास्ते को उलझाए रखा, मंजिल से फासला बनाए रखा, कभी यूँ भी ना चले तिरी ज़ानिब, हमनें तन्हाई से दिल लगाए रखा ।

Read more

मौसम | बारिश शायरी

कभी तेज हो जाती है तो कभी ठहर जाती है, बारिश और तेरी याद का मौसम एक जैसा है ।

Read more

मुहब्बत बूढ़ी | Urdu Poetry

चार कदम चली और थक कर सो गई, कच्ची उम्र में मुहब्बत बूढ़ी हो गई ।

Read more