.

Sunday, June 23, 2019

भुलाया नहीं | Sad Shayari


शायद भूल थी मेरी,
जो तुम्हें भुलाया नहीं,
.
जो इक उम्र दिल में रहा,
वो कभी नज़र आया नहीं ।


No comments:

Post a Comment