नाभि | रोमांटिक शायरी

तेरी कमर को छूती लटे तेरे चेहरे को ताक रही थी,
जैसे तेरी नाभि से वो चाँद
की दूरी नाप रही थी
 ♥♥

Tagged , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *