मौसम | बारिश शायरी

कभी तेज हो जाती है तो कभी ठहर जाती है,
बारिश और तेरी याद का मौसम एक
जैसा है ।
Tagged , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *