Ek Deewana Aaya tha

लेकर सपनो की
दुनिया,
तेरे दर पर एक
मुसाफिर आया था,
कोई कीमत नहीं है सच्ची
महोब्बत की इस दुनिया में,
वो तो तेरी एक
मुस्कान पे सबकुछ लुटाने आया था,
जानता था की कोई मोल
नहीं है टूटे दिल का इस बाज़ार में…

मगर अब डर कहा था
उसे कुछ खोने का,
तेरी महोब्बत में जो
उसने सबकुछ गंवाया था,
रहूँगा तेरी आँखों
में कभी अश्क बनकर तो कभी ख्वाब बनकर,
तेरे घर का रास्ता
भी मेरी राह देखता होगा की,
कभी तुझ पर सबकुछ
लुटाने इस गली में एक दीवाना आया था 
Tagged ,

2 thoughts on “Ek Deewana Aaya tha

  1. kabhi tujh per sab kuchh lutane is gali me ek deewana aaya tha
    the lines, they're so dainty they drive you emotional 🙂

    1. THank you Roshan 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *