Ek Khwaab | Infinite Love

वक़्त के पन्ने पलट
कर मैं कुछ लम्हे ढूँढता हूँ
.
बिखरी पड़ी ज़िन्दगी
से मैं कुछ यादें चूनता हूँ
,

क्यों ये एक ख्वाब
मैं हर रोज़ बूनता हूँ
,
मेरी धड़कनो को रोककर
मैं तुझे सूनता हूँ
♥♥


Indian Bloggers
Tagged , , , , , ,

2 thoughts on “Ek Khwaab | Infinite Love

    1. Thank you 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *