तेरे करीब | Infinite Love

मरहम सी यादों ने,
दिल के जख्मों को सहलाया है,

तन्हाइयों से गुज़रता हुआ दिल,
आज फिर तेरे करीब ले आया है  ♥♥

जितना भी दर्द से टूटा हूँ मैं,
उतना ही मैंने खुद को तुझमें पाया है,

जब भी तड़पा हूँ मैं,
तेरी यादों ने मुझे सीने से लगाया है  ♥♥

ज़माने ने दूर रखा मुझे तुझसे मगर,
मैंने तेरी यादों से दिल लगाया है,

चाहे यूँ ही तड़पता रहूँ मैं ज़िन्दगी भर,
मैंने हर लम्हा ये इश्क़ निभाया है  ♥♥


Tagged , , , , , , , , , , , ,

8 thoughts on “तेरे करीब | Infinite Love

  1. bahut khoob 🙂

    1. Thanks Shraddha 🙂

  2. Only the ones who are true face such pain. Poignant but beautiful.

    1. Thank you so much 🙂
      Your Appreciations means a lot.

    1. THanks Yogesh 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *