Mera Khuda | Hopeless

थोड़े
से करीब और थोड़े से जुदा है
,
मैं
याद उसकी और वो मेरा खुदा है
,
ना
जाने क्यों फिर ऐसा हुआ है
,
खुशबू
ने उसकी जैसे साँसों को छुआ है
 ♥♥

हर
दर्द की जैसे वो ही दवा है
,
धूप
भी जैसे अब ठंडी हवा है
,
नज़रों
ने जो उसकी दिल को छुआ है
,
साँसे
उसकी मेरे दिल का पता है
 ♥♥
ज़िन्दगी
बेदर्द और यादें धुँआ है
,
रूह
का मिलन जो फिर इश्क़ से हुआ है
,
दर्द
जो मेरी आँखों में छिपा है
,
हर
सांस पे जैसे उसका नाम लिखा है
 ♥♥
मैं
एक लम्हा और वो सारा जहां है
,
क्यों
ढूँढू उसे हर जगह कोई तो वजह है
,
दूर
रहूँ मैं उससे क्या यही अब सजा है
,

मेरे खुदा तू क्यों मुझसे खफ़ा है
 ♥♥


Indian Bloggers
Tagged , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *