Tag: Inspirational Poems

दरख़्त-ए-ज़िंदगी | Rekhta Shayari

दरख़्त-ए-ज़िंदगी से इक और पत्ता टूट कर गिर गया, साल ऐसे गुज़रा जैसे कोई मेहमाँ आकर वापस अपने घर गया ।

Read more

नज़रिया | हिंदी

बयान करने को पूरा दरिया था, मगर कोई  जरिया ना मिला, फिर एक दिन हिंदी मिली, और फिर इक नज़रिया मिला |

Read more

दोस्ती | Undefined LOVE

ये जो दोस्ती होती है ना, इसका कद महोब्बत से बड़ा है, ये वो ज़ज्बात है, जिसकी उम्र महोब्बत से ज्यादा है, जो दर्द भी भूला दे, दिल से कुछ ऐसा नाता है, जो टूट कर भी जुड़ जाये, ये वो धागा है, बहुत कुछ था ख़ुदा से मांगने को, हमने सिर्फ़ एक अच्छा दोस्त […]

Read more

Khaamoshiyaan | Hindi Poetry

ये जो ख़ामोशियों हैं ना तुम्हारी आँखों में, इन्हें लबों तक आने दो, ये दर्द ज़िंदगी से कुछ छीन ना ले, इसे यूँ ना ये लम्हें चुराने दो, दिल जो चाहता है बारिशों में भीगना, हर सांस को भीग जाने दो, ये शाम ना होगी इतनी हसीं फिर, इसे उदासियों में गुम ना हो जाने […]

Read more

Parwaaz | Infinite Love

रुकता कहीं नहीं जब ये परवाज़ लेता है, ये दिल परिंदा तेरी चौखट पे रूककर ही सांस लेता है ♥♥

Read more

ज़िन्दगी | Hope

हर किसी को तू जीने के नये नये अफ़साने दे, इतनी बेरुख़ी भी ठीक नहीं ज़िन्दगी तू उन्हें थोड़ा तो मुस्कुराने दे ।

Read more

Ae Khuda | Hopeless

मुद्दतों बाद लौटा हूँ तेरे दर पर ऐ खुदा, झोली तू चाहे खाली रख मगर फिर आँखे भी मत भरना |

Read more

Ae Zindagi | Hindi Poems

ऐ ज़िन्दगी तू क्यों उससे खेल रही है, जो बरसों से बस दर्द ही झेल रही है | उसकी ज़िन्दगी में भी बारिश की एक बौछार दे, वो हर पल मुस्कुरायें उसे तू खुशियाँ हज़ार दे, उसकी सांसों को जो सुकून दे, उसे तू ऐसी बहार दे | खुशियाँ अब कदम चूमे उसके, उसे फिर से […]

Read more

Life Is…..

Life is Not a Agreement , But it Sometimes like You should Agree with your Mate! Life is Not to Remember What you have Lost , It’s about  Happy and Satisfied with What you Have, Life is Not for Ruin , It’s a Sweet  Musical Radio ! Leave Your  Sorrow , Go to the Another […]

Read more

Ae Kismat

Ae Kismat, Kitni Mannaten ki Maine Khuda se ki tujhe sawanr de, Maine har waqt Pyar ki baarishen ki hai, Tu mujhe do Boond to Pyar de, Bas Ab aur Saha nahi jata, Ae Kismat, Ab tu mujhe Baksh de, Ya phir Tu mujhe maar de ! Follome on Facebook – MS Mahawar

Read more