Tag: Sad Love Poems

उलझाना | Hindi Shayari

उन्हें सिर्फ़ बातें बनाना आता है, सिर्फ़ जुल्फ़ों को उलझाना आता है, जिनके दिल में हम सुकूँ तलाशते रहे, उन्हें बस इश्क़ में तड़पाना आता है ।

Read more

फ़िज़ूल | Sad Shayari

ख़ुदा के हर दर पे मिरे सज्दे सारे फ़िज़ूल गए, तुझे तो माँग लिया हम नसीब माँगना भूल गए ।

Read more

तजुर्बा | Hindi Poetry

तजुर्बा मुहब्बत का मिरे काम नहीं आया, उनकी कहानी में मेरा नाम नहीं आया ।

Read more

मिरे कमरे | ROMANTIC Shayari

तुम अपनी ख़ुशबू यही छोड़ दो, मिरे कमरे में हवा के सिवा कुछ भी नहीं ।

Read more

उदासी | LOVE Shayari

मैंने उसकी उदासी माँगी थी, वो मेरी मुस्कुराहट ले गयी ।

Read more

ज़िंदा | Hindi Poetry

यूँ तो जी रहा हूँ मगर, गले में यादों का फंदा है, मैं जिस पे मर गया, वो मिरे बग़ैर ज़िंदा है ।

Read more

वस्ल | Sad Love Poems

तिरे हिज़्र में मर मर के जीये, वस्ल की रात में घुट इंतिज़ार के पीये ।

Read more

मैखानों | Sad Shayari

गुलाब चुभने लगे हैं, अब काँटों से मुहब्बत की जाय, वस्ल होता तो आँखों से पीते, तिरे हिज़्र में मैखानों में पी जाय ।

Read more

ज़माने | Hindi Poetry

वो लोग मुझे चिढ़ाने लगे है, मिरे दिल को तेरा घर बताने लगे है, उन को समझाएं कोई आसां नहीं मुहब्बत, दिल को दिल बनाने में ज़माने लगे है ।

Read more

हिकायतें | Hindi Poetry

उनके होंठों पर मेरी हिकायतें बहुत है, मैं ख़ुद कहूँ तो शिकायतें बहुत है, दिल का दम घुटता है इस शहर में, यहाँ जिस्मों को जोड़ने की रिवायतें बहुत है ।

Read more