ये साया | TUM BIN

ये साया जो तुम्हारा नहीं है,
क्यों
तुम इससे लिपटकर बैठे हो
,

मैं तुमसे मिलना चाहता हूँ,
तुमतुम कब होते हो ।
Tagged , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *